Telegram Group Join Now

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution) हिंदी व्याकरण

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution) : हिंदी व्याकरण

हिन्दी व्याकरण के अनेक शब्दों के लिए एक शब्द , अनेक शब्दों के लिए एक शब्द HINDI PDF DOWNLOAD,  अनेक शब्दों के लिए एक शब्द CLASS-9 

एक उदाहरण द्वारा इस बात को और स्पष्टतापूर्वक समझा जा सकता है’यह बात सहन न करने योग्य है’ की जगह पर ‘यह बात असह्य है’ ज्यादा गठा हुआ और प्रभावशाली लगता है। इस प्रकार के शब्दों की रचना उपसर्ग–प्रत्यय एवं समास की सहायता से की जाती है। हम पहले ही चर्चा कर चुके हैं कि उपसर्ग–प्रत्यय एवं समास की सहायता से नये शब्द बनाए जाते हैं। नीचे कुछ ऐसे ही शब्द दिए जा रहे हैं जो किसी लंबी अभिव्यक्ति के लिए प्रयुक्त होते हैं

Join Telegram Group

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution) : हिंदी व्याकरण

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution) : हिंदी व्याकरण

1- जो कभी बूढ़ा न हो – अजर
2- जिसकी कभी मृत्यु न हो- अमर
3- जो दिखाई न दे – अदृश्य
4- जिसे जाना न जा सके- अज्ञेय
5- जो दिया न जा सके – अदेय
6- जो पिया न जा सके- अपेय
7- जो खाया न जा सके- अखाद्य
8- जिसे छूना वर्जित हो – अस्पृश्य
9- जिसे पहले पढ़ा न हो – अपठित
10- जिसे टाला न जा सके- अवश्यम्भावी
11- जिसके बारे में कुछ पता न हो- अज्ञात
12- जिसे जीता न जा सके- अजेय
13- जिसे हराया न जा सके- अपराजेय
14- जिसका उल्लंघन न किया जा सके- अनुलंघनीय
15- पीछे चलने वाला – अनुगामी
16- साथ चलने वाला – सहचर
17- मन की बात जानने वाला- अंतर्यामी
18- सब कुछ देख लेने वाला- सर्वदृष्टा
19- सब कुछ जानने वाला- सर्वज्ञानी, सर्वज्ञ
20- अपने आप में मग्न रहने वाला- अंतर्मुखी
21- सबसे घुल मिल जाने वाला- बहिर्मुखी
22- कुछ न जानने वाला- अज्ञानी
23- रात्रि में घूमने वाला – रात्रिचर, निशाचर
24- प्रतिदिन होने वाला- दैनिक, रोजाना
25- सप्ताह में एक बार होने वाला- साप्ताहिक
26- पंद्रह दिन में एक बार होने वाला- पाक्षिक
27- माह में एक बार होने वाला- मासिक
28- तीन महीने में एक बार होने वाला-त्रैमासिक
29- छः महीने में एक बार होने वाला-अर्द्धवार्षिक, छमाही
30- साल में एक बार होने वाला – वार्षिक, सालाना

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution) 

31- पूरे जीवन भर – आजीवन
32- करने योग्य कार्य – करणीय
33- जहां कोई इंसान न हो – निर्जन
34- संसार से संबंधित- लौकिक, सांसारिक
35- संसार से बाहर का- अलौकिक, पारलौकिक
36- पूरे दिन के क्रिया-कलाप- दिनचर्या
37- जिसे जीतना कठिन हो- दुर्जय
38- जो हो न सके – असम्भव
39- शाक सब्जी खाने वाला- शाकाहारी
40- मांस खाने वाला- मांसाहारी
41- सब कुछ कहने वाला- सर्वाहारी
42- बहुत कम खाने वाला- अल्पाहारी
43- कड़वे वचन बोलने वाला – कटुभाषी
44- मीठा बोलने वाला – मधुरभाषी
45- कम बोलने वाला- मितभाषी
46- दूसरों की बुराई, निंदा करने वाला- परनिंदक, निंदक
47- बड़ाई या प्रसंशा करने वाला – प्रसंशक
48- जो बोलने में असमर्थ हो – मूक, गूंगा
49- जो सुनने में असमर्थ हो – बधिर, बहरा
50- जो देखने में असमर्थ हो – अंधा
51- जिसका कोई अंग काम न करता हो – विकलांग, दिव्यांग
52- जिसकी बुद्धि बहुत तेज हो – कुशाग्रबुद्धि
53- जिसकी बुद्धि कमजोर हो – मंदबुद्धि
54- आसानी से प्राप्त होने वाला – सुलभ
55- बहुत कठिनाई से मिलने वाला – दुर्लभ
56- जिसे करना कठिन हो – दुष्कर
57- जिसे कोई शोक न हो – अशोक
58- दूसरों से जलन रखने वाला – ईर्ष्यालु
59- दूसरों का उपकार करने वाला – परोपकारी
60- सुख दुख में समान रहने वाला – स्थिरप्रज्ञ

61- जिसका मूल्य न बताया जा सके – अमूल्य
62- जिसका कोई सगा-सम्बन्धी न हो – अनाथ
63- भाग्य जिसका साथ न दे – अभागा
64- जो पहले कभी न हुआ हो – अभूतपूर्व
65- जो शीघ्र ही मरने वाला हो – मरणासन्न
66- जिसे पड़ से हटा दिया गया हो- पदच्युत
67- दूसरों की भलाई के लिए सोचने वाला – शुभचिंतक
68- जिसकी मृत्यु हो गयी हो- स्वर्गीय, मृत
69- लम्बे समय तक जीवित रहने वाला – चिरंजीवी
70- जिसका जीवन दूसरों पर आश्रित हो – परजीवी
71- जो दूर की सोचता हो – दूरदर्शी
72- धरती और आकाश के बीच का स्थान- अंतरिक्ष
73- किसी देश के अंदर के मामले- अंतर्देशीय
74- जो बीत चुका हो – अतीत, भूत,
75- जो इंद्रियों के द्वारा न जाना जा सके- अगोचर
76- जिसने इंद्रियों को वश में कर लिया है- जितेंद्रिय
77- दोपहर के पहले का समय – पूर्वाह्न
78- दोपहर के बाद का समय- अपराह्न
79- जिसका त्याग न किया जा सके- अपरिहार्य
80- जिसका अनुभव किया जा चुका हो – अनुभूत
81- बिना वेतन काम करने वाला – अवैतनिक
82- जिसका कोई शत्रु न हो – अजातशत्रु
83- जिसके पास कुछ न हो – अकिंचन
84- जो कानून के विरुद्ध हो – अवैधानिक, अवैध
85- जो तोला या नापा न जा सके – अपरिमेय
86- जिसका इलाज न हो सके – असाध्य
87- जिसका मन कहीं और लगा हो – अन्यमनस्क
88- आवश्यकता से अधिक संग्रह न करना – अपरिग्रह
89- सामान्य नियम के विरुद्ध – अपवाद
90- अनुचित खर्च करने वाला – अपव्ययी

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution)

 

91- जिसका कभी अंत न हो- अनंत
92- जिसके समान कोई दूसरा न हो – अद्वितीय
93- जिसका खण्डन न किया जा सके – अकाट्य
94- जिसपर मुकदमा चल रहा हो – अभियुक्त,
95- जिसकी कोई सीमा न हो – असीम
96- जिसके आने की कोई तिथिं न हो – अतिथि
97- जो घूमता फिरता आ जाए – आगंतुक
98- ऊपर चढ़ने वाला- आरोही
99- जो ऊपर कहा गया हो- उपर्युक्त
100- किसी के बाद उसके पद यत् संपत्ति को ग्रहण करने वाला – उत्तराधिकारी
101- जो जमीन उपजाऊ हो – उर्वरा
102- जिसका उल्लेख करना आवश्यक हो- उल्लेखनीय
103- जल और जमीन दोनों पर चलने वाला- उभयचर
104- खाने के बाद बचा हुआ जूठन- उच्छिष्ट
105- जिस जमीन पर कुछ उत्पन्न न हो – ऊसर
106- एक ही आदमी का अधिकार – एकाधिकार
107- इतिहास से संबंधित – ऐतिहासिक
108- इंद्रियों से सम्बंधित – ऐन्द्रिक
109- जो अपनी इच्छा पर निर्भर हो – ऐच्छिक
110- अपनी विवाहिता पत्नी से उत्पन्न पुत्र – औरस
111- ऊपरी आचरण – औपचारिक
112- कर्तव्य न सूझ रहा हो- किंकर्तव्यविमूढ़
113- भूख-प्यास और भय से घबराया हुआ – कातर, अधीर
114- कथा जो जनसामान्य में प्रचलित हो- किंवदंती
115- किसका ज्ञान सीमित हो, जो एक ही स्थान के बारे में जानता हो – कूपमंडूक
116- जो खरीदा गया हो – क्रीत
117- किये गए अहसान को भूल जाने वाला – अहसानफरामोश, कृतघ्न118- उपकार मानने वाला – कृतज्ञ
119- कार्य हो जाने से संतुष्ट – कृतार्थ
120- किसी वस्तु को देखने अथवा सुनने की प्रबल इच्छा – कौतूहल

 

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution) : हिंदी व्याकरण For REET, Teacher Exams 2022, Rajasthan police and other

121- कविता लिखने वाली स्त्री – कवयित्री
122- सारे शरीर की हड्डियों का ढांचा – कंकाल
123- बाधाओं या कांटों से भरा मार्ग – कंटकाकीर्ण
124- कमल के समान सुंदर आंखों वाली – कमलनयनी
125- किसी विचार को कार्य रूप में बदलना – कार्यान्वयन
126- जो काम से जी चुराता हो – कामचोर
127- जो अच्छे चाल चलन का न हो – कुचाली
128- मन गढ़ंत बात – कपोलकल्पित
129- काम में लगा रहने वाला – कर्मठ
130- लता बेलों से घिरा सुंदर स्थान – कुंज
131- ऐसा ग्रहण जिसमें सूर्य या चन्द्रमा पूरा ढंक जाए- खग्रास
132- जो आकाश में चलता हो – खेचर, नभचर
133- खाने योग्य पदार्थ – खाद्य
134- आकाश को चूमने या छूने वाला – गगनचुंबी
135- दिन और रात के बीच का समय – गोधूलि
136- जो भोजन देर से पचे – गरिष्ठ
137- जिसके सिर पर बाल न हो – गंजा
138- गंगा से उतपन्न या सम्बंधित – गांगेय
139- घुलने योग्य पदार्थ – घुलनशील
140- जिसका राज्य पूरी पृथ्वी पर हो – चक्रवर्ती
141- जो सदा से चला आ रहा हो – चिरन्तन, शाश्वत
142- जिसके चार पैर हों – चतुष्पद
143- अपने लाभ के लिए किसी की प्रशंसा करने वाला – चाटुकार
144- ऐसा काव्य जिसमें गद्य और पद्य दोनों हों – चम्पू
145- चारों ओर की सीमा – चौहद्दी
146- बरसात के चार महीने- चौमासा
147- छिपे वेश में रहना – छद्मवेश
148- किसी में दोष ढूढना – छिद्रान्वेषण
149- किसी पर आरोप लगा कर छेड़ना – छींटाकसी
150- जनता द्वारा चलाया जाने वाला शासन – जनतंत्र
151- जीने की प्रबल इच्छा – जिजीविषा
152- किसी पर विजय पाने की इच्छा – जिगीषा
153- जानने की इच्छा रखने वाला – जिज्ञासु
154- जो संतान अवैध हो – जारज
155- जल में चलने वाला यान – जलयान
156- जन्म से सौ वर्ष का समय – जन्मशती, जन्मशताब्दी
157- जो जन्म से ही अंधा हो – जन्मांध
158- बुढ़ापे के कारण जर्जर – जराजीर्ण
159- पेट की अग्नि – जठराग्नि
160- जंगल की आग – दावानल
161- पति का बड़ा भाई – जेठ
162- बेटी का पति – जामाता, दामाद
163- स्वाभावतः झगड़ा करने वाला – झगड़ालू
164- किसी विषय पर अपना मत रखना – टिप्पणी
165- सिक्के ढलने के कारखाना – टकसाल
166- चारों ओर से जल से घिरी जमीन – टापू
167- जिसमें बाण रखे जाते हैं – तरकश, तूणीर
168- तर्क के आधार पर ठीक हो – तार्किक, तर्कसंगत
169- भूत, भविष्य, वर्तमान तीनों काल को जानने वाला – त्रिकालज्ञ
170- जो त्याग देने लायक हो – त्याज्य
171- विवाद या गुटबाजी से अलग रहने वाला – तटस्थ
172- जिसको त्याग दिया गया हो – त्यक्त
173- काम में निष्ठापूर्वक लगा हुआ – तत्पर
174- एक व्यक्ति द्वारा चलाया जाने वाला मनमाना शासन- तानाशाही
175- करचोरी से प्रतिबंधित माल बेचने वाला – तस्कर
176- जो देवताओं के योग्य हो – दिव्य
177- गोद लिया हुआ पुत्र – दत्तक
178- जहां जाना कठिन हो – दुर्गम
179- पति- पत्नी का जोड़ा – दम्पति
180- दण्ड दिए जाने योग्य – दंडनीय
181- जिसका मुख्य दाईं ओर हो –दक्षिणावर्त, दक्षिणाभिमुखी
182- पूरी तरह मन लगाकर – दत्तचित्त
183- बुरे चरित्र वाला – दुश्चरित्र
184- जिसे करना बहुत कठिन हो – दुष्कर
185- जो अपनी प्रतिज्ञा पर दृढ़ रहता हो – दृढ़प्रतिज्ञ
186- अपने देश से विश्वासघात करने वाला – देशद्रोही
187- तेज गति से जाने वाला – द्रुतगामी
188- ऐसा अकाल जिसमें भिक्षा देना भी कठिन हो – दुर्भिक्ष
189- जिसे भेदना कठिन हो – दुर्भेद्य
190- जिसका समाधान कठिन हो – दुःसाध्य
191- अनुचित बात के लिए आग्रह करना – दुराग्रह
192- जिसे पूजा द्वारा प्रसन्न करना कठिन हो – दुराराध्य
193- जिसके दश मुंह हों – दशानन, दशमुख
194- जिस पर तिथि या दिनांक अंकित हो – दिनांकित
195- जो अपने ऋण चुकाने में असमर्थ हो – दिवालिया
196- जिसकी बाहें घुटनों तक लम्बी हों – आजानुबाहु
197- जो देखने योग्य हो – दर्शनीय
198- पुराने संकुचित विचारों वाला – दकियानूस
199- विवाह के बाद बहू का दोबारा ससुराल आना – द्विरागमन
200- जिसे दबाया/ पीड़ित किया गया हो – दलित

Our Test Series-

Free Psychology Important Questions For Rajasthan 2nd and 1st Grade Teacher Exams

Free Rajasthan GK Questions For Rajasthan 2nd and 1st Grade Teacher Exams

Free Rajasthan GK Questions For Rajasthan 2nd and 1st Grade Teacher Exams

Free Psychology Important Questions For Rajasthan 2nd and 1st Grade Teacher Exams

Free Rajasthan GK Questions For Rajasthan 2nd and 1st Grade Teacher Exams

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करे –  CLICK HERE

पीडीऍफ़ डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे-  CLICK HERE 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x